Useful Information and Facts About Planet Saturn in Hindi 2020 (शनि के बारे मे हिंदी में जानकरी)

हेलो रीडर्स, आशा है की आप सभी ठीक होंगे। आज हम एक ऐसे ग्रह के बारे में बात करने वाले है जिसके बारेमे शायद आपको बहोत कम जानकरी होगी उसका नाम शनि है और यह Useful Information and Facts About Planet Saturn in Hindi सिर्फ उसके बारे मे है. इस ग्रह के बारेमे इतना जानकर आज आपको बहोत ही मजा आने वाला है और कुछ ऐसी जानकारी भी प्राप्त करेंगे जो अपने कही नहीं सुनी होगी.

Also Read- Useful Information and Facts About Planet Mercury in Hindi 2020 (बुध के बारे मे हिंदी में जानकरी)

Useful Information About Planet Saturn in Hindi (शनि के बारे मे हिंदी में जानकरी)

Useful Information and Facts About Planet Saturn in Hindi 3

यह गृह आपको सौर्य मंडल में सबसे सुन्दर गृह दिखेगा और आप सभी ने उसकी तस्वीर शायद देखि ही होगी तो यह कैसा दीखता है वह तो आपको पता ही होगा। और इसके बारेमे और जानकरी आपको निचे मिलेगी।

अगर हम सूर्य से दुरी की बात करे तो शनि (Saturn) सूर्य से छठे क्रम का ग्रह है और इसकी साइज की बात करे तो बृहस्पति के बाद सौरमंडल का दूसरे नंबर का सबसे बड़ा ग्रह हैं। जीसका व्यास देखे तो वैज्ञानिको के अनुसार पृथ्वी से नौ गुना बड़ा है। सामान्य भाषा में कहे तो शनि एक गैस से भरा गोला है जिसमे आपको कही अलग अलग बायु देखने को मिलेंगे.

लेकिन इसका औसत घनत्व पृथ्वी के सिर्फ आठवां भाग का है ऐसा हम कह सकते है, अपने बड़े आयतन के साथ अगर हम इसकी तुलना पृथ्वी से करे तो वैज्ञानिको के अनुसार यह पृथ्वी से 95 गुने से भी ज्यादा बड़ा है। विज्ञानं की भाषा में इसका खगोलिय चिन्ह ħ है जो शायद अपने इसके फोटो के साथ देखा हो

इस गृह के आंतरिक ढांचे की बात करे तो यह लोहा, निकल, सिलिकॉन और ऑक्सीजन यौगिक चट्टानों के एक परत से बना है, जिसमे सभी धातु हाइड्रोजन की एक मोटी परत से घिरे हुए है, अंदर तरल हाइड्रोजन और तरल हीलियम की एक परत पायी गयी है जो सिर्फ गैस की बानी हुई है।

अमोनिया क्रिस्टल के कारन इसके वायुमंडल में इस गृह में आपको हल्का पीला रंग देखने को मिलेगा। विज्ञानीको के हिसाब से इसका गुरुत्वाकर्षण बल पृथ्वी की तुलना में कमजोर है. इस गृह पर सामान्य तौर पे हवा की गति, 1800 किमी/घंटा तक कभी कभी पहुंच जाती है, जिसकी तुलना हम बृहस्पति से करे तो तेज है पर उतनी तेज नहीं जितनी नेप्च्यून गृह पर हवा तेज होती है.

Useful Information and Facts About Planet Saturn in Hindi 2
Useful Information and Facts About Planet Saturn in Hindi

आप इस गृह की फोटो में देख सकते है शनि के आसपास आपको विशिष्ट वलय देखने को मिलते है जो नौ विभागों में विभाजित हैं, यह सभी बर्फ के कणों और धूल या वायु से बनी हुई है ऐसा विज्ञानिको को मानना है.

इस गृह के उपग्रह बासठ है जो सभी अलग अलग गति से इस ग्रह की परिक्रमा करते है. टाइटन, शनि का सबसे बड़ा उपग्रह और सौरमंडल का दूसरा सबसे बड़ा उपग्रह है। इसकी साइज की बात करे तो यह बुध ग्रह से भी बड़ा है और एक बड़े वायुमंडल को अपने पास जकड कर रखने वाला सौरमंडल का एकमात्र उपग्रह है.

शनि एक गैस के गोले के रूप में जाना जाता है क्यों की यह पूरा गैस का भरा हुआ है और यह ध्रुवों पर चपटा और मध्य रेखा पर उभरा हुआ गृह है। इसकी मध्यरेखा और ध्रुवीय त्रिज्याओं के बीच सिर्फ 10% के करीब फर्क है. इसको हम इसे आकर के सन्दर्भ में रखे तो यह सौर मंडल का सबसे चपटा गृह है.

शनि सौरमंडल का एकमात्र ग्रह है जो पानी से कम घना और गैस से ज्यादा हैलेकिन इसका कोर पानी से काफी घना है ऐसा वैज्ञानिको का मानना है, गैसीय वातावरण के कारण ग्रह का औसत विशिष्ट घनत्व 0.69 ग्राम/सेमी3 है जो बाकि ग्रहो से काफी कम है। यह पृथ्वी के द्रव्यमान से 95 गुना तक ज्यादा द्रव्यमान है, जो बाकि ग्रहो के मुकाबले काफी ज्यादा है.

शनि का वायुमंडल कैसा है – How is the atmosphere of Saturn in Hindi

इस ग्रह का वायुमंडल बाह्य रूप 96.3% हाइड्रोजन और 3.25% हीलियम से बना हुआ है. वैज्ञानिको का एक अनुमान है की शनि के कोर क्षेत्र में स्थित एक महत्वपूर्ण अंश के साथ, यह सभी भारी तत्वों का कुल द्रव्यमान पृथ्वी के द्रव्यमान का 19 से 31 गुना हो सकता है.

इसके वायु मंडल में और भी गैस है जैसे की अमोनिया, एसिटिलीन, ईथेन, प्रोपेन, फोस्फाइन और मीथेन लेकिन वह बहोत हि कम मात्रा में है। इस ग्रह में ऊपरी बादल अमोनिया क्रिस्टल से बने हुए हैं, जबकि निचे स्तर के बादल या तो अमोनियम हाइड्रोसल्फाईड के है जो पानी के मिश्रण से मिलकर बने हुए हैं।

शनि का आंतरिक ढांचा -Internal structure of Saturn in Hindi

जैसे की आपको अब पता है शनि एक गैस से भरा गोला है लेकिन यह पूरी तरह से गैसीय नहीं बना है। ज्यादा मात्रा में हाइड्रोजन हैं जिसका द्रव्यमान का 99.9% ज्यादा बडा है। इसके अंदर तापमान, दबाव और घनत्व सभी कोर की और तेजी से बढ़ते जाते है, जो हाइड्रोजन को एक धातु में परिवर्ती करता है.

इसकी बनावट बृहस्पति ग्रह के साथ काफी मिलती जुलती है, जिसकी परत हाइड्रोजन और हीलियम से सघन है। इसकी बाह्यतम परत 1,000 किमी तक फैली हुई है जो केवल एक गैसीय वातावरण से बनी हैं.

इसकी कोर का तापमान 11,700 डिग्री सेल्सियस है और यह सूर्य से जितनी ऊर्जा प्राप्त करता है उससे 2.5 गुना अधिक ऊर्जा अंतरिक्ष में छोड़ता है इस लिए यह काफी प्रकाशित ग्रह है जो आपको चमकीला दिखाई देता है.

शनि का चुम्बकीय क्षेत्र और परिक्रमा -Magnetic field and orbit of Saturn in Hindi

दूसरे ग्रहो की तरह शनि का भी एक आंतरिक चुम्बकीय क्षेत्र है जिसका एक सामान्य आकार का है.मध्य रेखा पर चुम्बकीय क्षेत्र की ताकत – 0.2 गॉस (20 μT) है जो पृथ्वी के चुम्बकीय क्षेत्र के मुकाबले कमजोर है. और इसका उपग्रह टाइटन शनि के चुम्बकीय क्षेत्र के बाहरी हिस्से में भीतर परिक्रमा करता है.

सूर्य से इस ग्रह की दुरी औसतन 1.4 अरब किलोमीटर से ज्यादा की है। यह अपने पथ पर सूर्य के आसपास 9.69 किमी/सेकंड से गति करता है, शनि सूर्य के चारों ओर एक चक्र पूरा करने के लिए 10,759 दिन लेता हैं इस हमारे साल में देखे तो लगभग 29 वर्ष होते है. शनि की धरी लगभग 2.48° डिग्री झुकी हुई है.

यह अपनी धरी पर एक चकर 10घंटे 39मिनट 22.4सेकंड के समय में पूरा करता है यानि की इसका एक दिन 10 घंटे का होता होगा। यह बात वैज्ञानिको ने 2005 में शायद पता लगाई थी. पूरी दुनिया में सभी देशो द्वारा अंतरिक्ष मिशन किये जा चुके है जिससे की इस ग्रह के बारेमे ज्यादा जानकारी प्राप्त किए जा सके.

Some Information about Saturn in Hindi

  1. मास (1024 किग्रा) – 568
  2. घनत्व (किग्रा / एम 3) – 687
  3. व्यास (किमी) – 120,536
  4. गुरुत्वाकर्षण (एम / एस 2) – 9.0
  5. एस्केप वेलोसिटी (किमी / एस) – 35.5
  6. रोटेशन की अवधि (घंटे) – 10.7
  7. दिन की लंबाई- 10.7 घंटे
  8. सूर्य से दूरी -1433000000 किलोमीटर
  9. कक्षीय अवधि (दिन) – 10,747
  10. कक्षीय झुकाव (डिग्री) – 2.5
  11. औसत तापमान (C) – 140
  12. भूतल दबाव (बार) – अज्ञात
  13. उपग्रह की संख्या – 27
  14. वैश्विक चुंबकीय क्षेत्र? – हाँ

Facts About Planet Mercury in Hindi (बुद्ध के बारे में कुछ अनसुने तथ्य)

Useful Information and Facts About Planet Saturn in Hindi 1
  • विज्ञानं की भाषा में इसका खगोलिय चिन्ह ħ है.
  • शनि बृहस्पति के बाद सौरमंडल का दूसरे नंबर का सबसे बड़ा ग्रह हैं
  • वैज्ञानिको के अनुसार पृथ्वी से नौ गुना बड़ा है
  • टाइटन इस ग्रह का सबसे बड़ा उपग्रह है जो बुध से भी बड़ा है.
  • इसका औसत घनत्व पृथ्वी के सिर्फ आठवां भाग का है
  • यह सभी ग्रहो में सबसे ज्यादा चपटा ग्रह है
  • जबकि बाह्य तापमान -118 के आसपास है
  • इसकी कोर का तापमान 11,700 डिग्री सेल्सियस है
  • सूर्य से जितनी ऊर्जा प्राप्त करता है उससे 2.5 गुना अधिक ऊर्जा अंतरिक्ष में छोड़ता है
  • आप इस गृह को शनि ग्रह को पृथ्वी से बिना टेलिस्कोप से देख सकते है। यह पृथ्वी से आपको काफी चमकीले तारे की तरह दिखेगा.
  • इस गृह के सबसे ज्यादा 16 वालय मौजूद है जो दिखने में आपको काफी सुन्दर लगेंगे।
  • आप पृथ्वी से A,B और C वलय को देख सकते है.
  • दुनिया के सभी देशो के कुल 4 अंतरिक्ष यान इस ग्रह की ज्यादा जानकारी के लिए शनि पर जा चुके हैं.
  • यह सभी वाले पानी की बर्फ की परत से बने हैं.
  • इस ग्रह का एक दिन मात्र 10 घंटे और 34 मिनट समाप्त होता है जो पृथ्वी के आधे दिन से भी कम है.
  • इसका घनत्व बाकी सभी ग्रहों से काफी कम है। यानि की पानी भी उसके सतह से ऊपर वातावरण में तैरने लगेगा
  • बहोत ही बड़े वैज्ञानिक गैलीलियो द्वारा इसे पहलीबार देखा गया था.
  • इस गृह को बृहस्पति का भाई माना जाता है क्यों की दोनों की सरचना काफी मिलती जुलती है. शनि के 82 उपग्रह हैं और इसके साथ इसके सबसे ज्यादा उपग्रह है. इसने पहला स्थान 2019 में लिया।
  • इस गृह पर हवा काफी तेज बहती है जिसकी गति 1800 कि.मी. प्रति घंटा या उससे भी ज्यादा तेज़ है।

Facts About Saturn in Hindi पार्ट में आपको कुछ इस ग्रह से जुड़े अनसुने तथ्य की जानकरी मिलि होगी। बहोत से लोगो को इनमे से ज्यादातर जानकारी या तथ्य के बारेमे पता नहीं होगा। मुझे विश्वाश है की आज आपको यह जानकर खूब मजा आया होगा। ऐसी ही दूसरी मजेदार कही सारी जानकरी आपको हमारे Home Page में मिल जाएगी, तो आप उसे जरूर चेक करे.

Summary

हमें विश्वाश है की आपको Useful Information and Facts About Planet Saturn in Hindi आर्टिकल बहोत ही पसंद आया होगा जिसमे आपको इस इस अनोखे ग्रह शनि के बारेमे कुछ अनसुनी बाते जरूर जानने को मिली होगी. यह ग्रह आपको सौरमंडल के सभी ग्रहो में काफी चमकीला और सुन्दर दिखाई देगा। शायद अपने फोटो पहले देखि ही होगी और अगर नहीं देखि तो आप गूगल पे जाके देख सकते है या यहाँ ऊपर कुछ तस्वीर दियी है उसे देख सकते है.

Reference

Leave a Comment